Best Rista Shayari 2018



Hum Na Ajnabi Hain Na Paraye Hain,
Aap Aur Hum Ek Rishte Ke Saye Hain,
Jab Bhi Jee Chahe Mehsoos Kar Lijiyega,
Hum To Aapki Muskurahat Mai Samaye Hain.

****************

Dil Ka Rishta Hai Hamara,
Dil Ke Kone Mein Naam Hai Tumhara,
Har Yaad Mein Hai Chehra Tumhara,
Hum Sath Nahi To Kya Hua,
Zindagi Bhar Pyar Nibhane Ka Wada Hai Hamara.

*****************

रिश्ते पंछियों के समान होते है,
जोर से पकडो तो मर सकते है,
धीरे से पकडो तो उड सकते है,
लेकिन प्यार से पकड कर रखो,
तो जिंदगी भर साथ में रहते है.

****************

Kabhi Na Kabhi To Wo Mere Bare Mmai Sochay Ga!!
K Koi Khoon Ka Rishta Bhi Nahi Phir B Deewano Jesa Chahta Tha.

****************

Mere Andar Tere Aane Ki Ye Aas Bujh Jaye
Sochta Hun Mohabbat Ki Ye Pyas Bujh Jaye


****************

Utaar Deti Hai Duniyadari Ishq Ka Nasha
Roji Roti Ki Kabhi To Talash Bujh Jaye


****************

Roshni Aati Nahi Zindagi Me Kudarat Ki
Shahar Me Chand Suraj Badhawaas Bujh Jaye


****************

Door Nikal Aaya Hun Ab Khud Se Kitna
Ki Apne Hone Ka Bhi Ahsaas Bujh Jaye

****************



Nahi nibhane ho toh rishte mat banao,
Apne timepass ke chakkar mai koi toot jata hai.


****************

Bujh Rahe Hain Aasma Ke Sare Tare
Chand Jeeta Hai Akela Jinke Sahare


****************

Main To Pyasa Hun, Aakhir Me Wahin Jaunga
Jahan Kho Jaate Hain Pani Ke Sare Kinare

****************

Koi Batla De Mera Gam Jo Khanjar Hai
Kyon Lagte Hain Mere Dil Ko Itne Pyare


****************

Har Kisi Aankh Me Bas Main Itna Khojun
Kahin Dikh Ja Re O Dard Ke Aansoo Khare


****************


Jo koi samajh na sake woh baat hain hum,
Jo dhal ke nayi subah laaye woh raat hain hum,
Chod dete hain log rishte banakar,
Jo kabhi na chute woh saath hai hum.


****************



इस दर्द की तारीफ में अब क्या गिला लिखूं
दिन-रात के फिराक का क्या सिला लिखूं


****************

बस्ती में खिला फूल भी औरों का हो चुका
कांटे मिले हैं जिसको उसे दिलजला लिखूं


****************

घर लौटते हैं किसलिए अपनों से लड़ते लोग
नहीं जानता उन्हें तो क्यूं बुरा भला लिखूं


****************

मेरे सफर में रह सका न कोई मेरे साथ
तन्हाइयों को ही मैं अब सिलसिला लिखूं


****************

Manjil na mile to raaste anjan reh jate hain,
Dil par armano ki nishan reh jate hain,
Jaruri nahi har rishte ka naam ho,
Kuch rishte umar bhar benam reh jate hain.

****************

मुझे देखकर ही डर जाते हैं लोग
रास्तों में मिलते ही कतराते हैं लोग

****************

मेरी यारी जब किसी से बढ़ती है
पीठ पीछे उसे खूब समझाते हैं लोग

****************

अगर भूल से कोई तारीफ करे मेरी
उस बात को वहीं दफनाते हैं लोग


****************

मेरा दुश्मन जो कहीं पे मिल जाए
उसे तहे दिल से गले लगाते हैं लोग

****************

सच कह देता हूं किसी के मुंह पर
मेरी इसी फितरत से घबड़ाते हैं लोग

****************


जब रिश्ता नया होता है,
तो लोग बात करने का बहाना ढ़ुढ़ते है,
और जब वही रिश्ता पुराना हो जाता है,
तो लोग दूर होने का बहाना ढूढ़ते है.

****************


Kitna Dur Nikal Gaye Rishtey Nibhate-Nibhate,
Khud Ko Kho Diya Humne Apno Ko Pate-Pate,
Log Kehte Hai Dard Hai Mere Dil Mai,
Aur Hum Thak Gaye Muskurate-Muskurate.

****************

जो खुदा हर पल मेरे अहसासों में है
मेरी जां तू उसकी एक झलक तो नहीं

****************

तुमको अगर मैं अपने दिल में बसा लूं
ये काम जमाने में कोई गलत तो नहीं

****************

यूं सोचता रहूं और तुमसे कह न सकूं मैं
तो फिर रहोगी तुम हमसे अलग तो नहीं

****************

रातभर तेरी तस्वीर को देखता रहा लेकिन
झपकी एक बार भी मेरी पलक तो नहीं

****************


Aao Chalo Rishto ki Shaan Ban Jaye,
Ek Duje Ke Labon Ki Muskan Ban Jaye,
Hum Tum Nibhaye Apni Yari Is Tarah,
Duniya Mai Hum Dosti Ki Pehchan Ban Jaye.

****************

तेरे सिवा दुनिया में है अपना क्या, कुछ भी नहीं
तेरी यादों के सिवा आशियां में क्या, कुछ भी नहीं

****************

मौत आती तो है मेरे दर पे रोज चुपके-चुपके
मगर मिलता है उसे मुझमें अब क्या, कुछ भी नहीं

****************

मुद्दतों-बरसों जिनके खातिर तिल-तिल के मरा
उसने आखिर मेरे दामन में दिया क्या, कुछ भी नहीं

****************

कहने को तो आज सब कुछ मेरे पास है मगर
जो तू ही नहीं तो इसकी कीमत क्या, कुछ भी नहीं

****************



Tere haath ki main wo lakeer ban jaun,
Sirf mai hi tera muqadar teri takdeer ban jaun,
Mai tujhe itna chahu ki tu bhool jaye har rishta,
Sirf mai hi tere har rishte ki tasveer ban jaun,
Tu aankhe band kare to aau mai hi nazar,
Iss tarah mai tere har khawab ki tabeer ban jau.

****************


Yaadein aksar hoti hai satane ke liye,
Koi rooth jata hai fir maan jane ke liye,
Rishte nibhana koi mushkil to nahi,
Bas dilon mai pyar chahiye use nibhane ke liye.

****************


रेत अब बूंद लगे और बूंद की प्यास लगे
हूं समंदर में मगर रेगिस्तां मुझे पास लगे

****************

मेरी रूह पे रह गया मोहब्बत का निशां यूं
फासला तुमसे हुआ तो तुम मुझे पास लगे

****************

देखते रह गए तेरी हसीन तस्वीर को हम
पल पल तेरा अक्स मुझे आंखों क पास लगे

****************

दर्द में पाया तुझे और मैं रो पड़ा अक्सर
मुझे हर दर्द अब तेरा ही अहसास लगे

****************


प्यासी निगाहें बरस गई, बरसी निगाहें तरस गई
सावन की आई बारिश में कितनी नदियां टूट गई

****************

मेरे सागर में एक कश्ती तूफानों से डरती थी
सैलाबों से लड़ते-लड़ते वो भी एक दिन डूब गई

****************

एक गुमसुम सी फूल के खातिर मैं कांटों पे सोया
लेकिन वो खुद से रूठी थी, हमसे भी रूठ गई

****************

बाली उमर में बुझता चिरागां शम्मे को दर-दर ढूंढे
वो बुझा उसकी गली में, जब वो शम्मा बुझ गई


****************

Koi Toote To Use Sajana Seekho,
Koi Roothe To Use Manana Seekho,
Rishte To Milte Hain Muqaddar Se,
Bas Use Khoobsurti Se Nibhana Seekho..!!

****************


Barf Ke Roop Main…Ye Pighal Jaayenge Saare Rishte…
Mujh Se Poocho Ke Mohabbat Ki…Ye Agan Kaisi Hai…


****************

Main Tere Deedar Ki Khwahish Ko…Na Marne Doonga…
Mausam-E-Tanhai Ke Lahje Main…Ye Thakaan Kaisi Hai…

****************

Mujhe Us Masoom Si Ladki Par Taras Aata Hai…
Use Dekho Toh Mohabbat Main Magan Kaisi Hai…

****************


रेत अब बूंद लगे और बूंद की प्यास लगे
हूं समंदर में मगर रेगिस्तां मुझे पास लगे


****************

मेरी रूह पे रह गया मोहब्बत का निशां यूं
फासला तुमसे हुआ तो तुम मुझे पास लगे


****************

देखते रह गए तेरी हसीन तस्वीर को हम
पल पल तेरा अक्स मुझे आंखों क पास लगे

****************

दर्द में पाया तुझे और मैं रो पड़ा अक्सर
मुझे हर दर्द अब तेरा ही अहसास लगे

****************


Jab Paas Hon Toh Rukh Se Nigahe Na Modna,
Jab Door Hon To Mera Tasavvur Na Chodna,
Aey Dost Dil Lagane Se Pehle Ye Soch Lein,
Muskil Bahut Hai Rishto Ki Zanjire Na Todna.

****************


प्यासी निगाहें बरस गई, बरसी निगाहें तरस गई
सावन की आई बारिश में कितनी नदियां टूट गई

****************

मेरे सागर में एक कश्ती तूफानों से डरती थी
सैलाबों से लड़ते-लड़ते वो भी एक दिन डूब गई

****************

एक गुमसुम सी फूल के खातिर मैं कांटों पे सोया
लेकिन वो खुद से रूठी थी, हमसे भी रूठ गई

****************

बाली उमर में बुझता चिरागां शम्मे को दर-दर ढूंढे
वो बुझा उसकी गली में, जब वो शम्मा बुझ गई

****************


Aisa nahi ki aap yaad aate nahi,
Khataa sirf itni hai ki hum bataate nahi,
Rishta aapka anmol hai hamare liye,
Samajhte ho aap isliye hum jatate nahi.

****************



Jahan Rishtey Hawaon Ki Tarah Chalne Ki Aadi Ho Jayein,
Wahan Apne To Hote Hain, Par Apna Pan Nahi Hota !!


****************

रेत अब बूंद लगे और बूंद की प्यास लगे
हूं समंदर में मगर रेगिस्तां मुझे पास लगे

****************

मेरी रूह पे रह गया मोहब्बत का निशां यूं
फासला तुमसे हुआ तो तुम मुझे पास लगे

****************

देखते रह गए तेरी हसीन तस्वीर को हम
पल पल तेरा अक्स मुझे आंखों क पास लगे

****************

दर्द में पाया तुझे और मैं रो पड़ा अक्सर
मुझे हर दर्द अब तेरा ही अहसास लगे

****************


Pal pal ke Rishte ka Vaada hai Aapse,
Apna pan kuch itna Zyada hai Aapse,
Na sochna ke bhool jayenge Aapko,
Zindagi bhar Chahenge ye Vaada hai Aapse.

****************


प्यासी निगाहें बरस गई, बरसी निगाहें तरस गई
सावन की आई बारिश में कितनी नदियां टूट गई

****************

मेरे सागर में एक कश्ती तूफानों से डरती थी
सैलाबों से लड़ते-लड़ते वो भी एक दिन डूब गई

****************

एक गुमसुम सी फूल के खातिर मैं कांटों पे सोया
लेकिन वो खुद से रूठी थी, हमसे भी रूठ गई

****************

बाली उमर में बुझता चिरागां शम्मे को दर-दर ढूंढे
वो बुझा उसकी गली में, जब वो शम्मा बुझ गई

****************


Nigahein Nigahon Se Mila Kar To Dekho,
Jara Hamse Rishta Bana Kar To Dekho,
Hasrate Dil Mai Dabane Se Kya Faiyda,
Apne Honto Ko Hila Kar To Dekho,
Aasman Simat Jayega Tumhare Aagosh Mai,
Jara Chahat Ki Bahein Faila Kar To Dekho.

****************

रेत अब बूंद लगे और बूंद की प्यास लगे
हूं समंदर में मगर रेगिस्तां मुझे पास लगे

****************

मेरी रूह पे रह गया मोहब्बत का निशां यूं
फासला तुमसे हुआ तो तुम मुझे पास लगे

****************

देखते रह गए तेरी हसीन तस्वीर को हम
पल पल तेरा अक्स मुझे आंखों क पास लगे

****************

दर्द में पाया तुझे और मैं रो पड़ा अक्सर
मुझे हर दर्द अब तेरा ही अहसास लगे

****************


Teri Khushi Se Nahi Gam Se Bhi Rishta Hai Mera,
Tu Zindgi Ka Ek Anmol Hissa Hai Mera,
Meri Mohabbat Sirf Lafzo Ki Mohtaaz Nahi,
Teri Rooh Se Rooh Ka Rishta Hai Mera…!!

****************


“हर रिश्ते में विश्वास रहने दो;
जुबान पर हर वक़्त मिठास रहने दो;
यही तो अंदाज़ है जिंदगी जीने का;
न खुद रहो उदास, न दूसरों को रहने दो..!”

****************


प्यासी निगाहें बरस गई, बरसी निगाहें तरस गई
सावन की आई बारिश में कितनी नदियां टूट गई

****************

मेरे सागर में एक कश्ती तूफानों से डरती थी
सैलाबों से लड़ते-लड़ते वो भी एक दिन डूब गई

****************

एक गुमसुम सी फूल के खातिर मैं कांटों पे सोया
लेकिन वो खुद से रूठी थी, हमसे भी रूठ गई

****************

बाली उमर में बुझता चिरागां शम्मे को दर-दर ढूंढे
वो बुझा उसकी गली में, जब वो शम्मा बुझ गई


****************

Wo rishta kya jisko nibhana pade,
Wo pyar kya jisko jatana pade,
Pyar to ek khamosh ehsas hai,
Wo ehsaas kya jisko lafzon main batana pade.

****************


रेत अब बूंद लगे और बूंद की प्यास लगे
हूं समंदर में मगर रेगिस्तां मुझे पास लगे

****************

मेरी रूह पे रह गया मोहब्बत का निशां यूं
फासला तुमसे हुआ तो तुम मुझे पास लगे

****************

देखते रह गए तेरी हसीन तस्वीर को हम
पल पल तेरा अक्स मुझे आंखों क पास लगे

****************

दर्द में पाया तुझे और मैं रो पड़ा अक्सर
मुझे हर दर्द अब तेरा ही अहसास लगे


****************

Jisko Chaho Use Chahat Bata Bhi Dena,
Kitna Pyar He Usse Ye Jata Bhi Dena,
Ki Kahi Dil Uska Kahi Aur Na Lag Jaye,
Karke Izhar Uske Dil Ko Chura Bhi Lena,
Galti Se Bhi Ruthe Kabhi To Use Mana Bhi Lena,
Ki Bahut Haseen Hota Hai Ye Pyar Ka Rishta,
Ki kabhi galti se bhi isey tod na lena .

****************


प्यासी निगाहें बरस गई, बरसी निगाहें तरस गई
सावन की आई बारिश में कितनी नदियां टूट गई

****************

मेरे सागर में एक कश्ती तूफानों से डरती थी
सैलाबों से लड़ते-लड़ते वो भी एक दिन डूब गई

****************

एक गुमसुम सी फूल के खातिर मैं कांटों पे सोया
लेकिन वो खुद से रूठी थी, हमसे भी रूठ गई

****************

बाली उमर में बुझता चिरागां शम्मे को दर-दर ढूंढे
वो बुझा उसकी गली में, जब वो शम्मा बुझ गई

****************


Tere haath ki main wo lakeer ban jaun,
Sirf mai hi tera muqadar teri takdeer ban jaun,
Mai tujhe itna chahu ki tu bhool jaye har rishta,
Sirf mai hi tere har rishte ki tasveer ban jaun,
Tu aankhe band kare to aau mai hi nazar,
Iss tarah mai tere har khawab ki tabeer ban jau.


****************

रेत अब बूंद लगे और बूंद की प्यास लगे
हूं समंदर में मगर रेगिस्तां मुझे पास लगे

****************

मेरी रूह पे रह गया मोहब्बत का निशां यूं
फासला तुमसे हुआ तो तुम मुझे पास लगे

****************

देखते रह गए तेरी हसीन तस्वीर को हम
पल पल तेरा अक्स मुझे आंखों क पास लगे

****************

दर्द में पाया तुझे और मैं रो पड़ा अक्सर
मुझे हर दर्द अब तेरा ही अहसास लगे


****************

Yaadein aksar hoti hai satane ke liye,
Koi rooth jata hai fir maan jane ke liye,
Rishte nibhana koi mushkil to nahi,
Bas dilon mai pyar chahiye use nibhane ke liye.

****************


Koi Toote To Use Sajana Seekho,
Koi Roothe To Use Manana Seekho,
Rishte To Milte Hain Muqaddar Se,
Bas Use Khoobsurti Se Nibhana Seekho..!!

****************


Barf Ke Roop Main…Ye Pighal Jaayenge Saare Rishte…
Mujh Se Poocho Ke Mohabbat Ki…Ye Agan Kaisi Hai…

****************

Main Tere Deedar Ki Khwahish Ko…Na Marne Doonga…
Mausam-E-Tanhai Ke Lahje Main…Ye Thakaan Kaisi Hai…

****************

Mujhe Us Masoom Si Ladki Par Taras Aata Hai…
Use Dekho Toh Mohabbat Main Magan Kaisi Hai…


****************

प्यासी निगाहें बरस गई, बरसी निगाहें तरस गई
सावन की आई बारिश में कितनी नदियां टूट गई

****************

मेरे सागर में एक कश्ती तूफानों से डरती थी
सैलाबों से लड़ते-लड़ते वो भी एक दिन डूब गई

****************

एक गुमसुम सी फूल के खातिर मैं कांटों पे सोया
लेकिन वो खुद से रूठी थी, हमसे भी रूठ गई

****************

बाली उमर में बुझता चिरागां शम्मे को दर-दर ढूंढे
वो बुझा उसकी गली में, जब वो शम्मा बुझ गई

****************


Jab Paas Hon Toh Rukh Se Nigahe Na Modna,
Jab Door Hon To Mera Tasavvur Na Chodna,
Aey Dost Dil Lagane Se Pehle Ye Soch Lein,
Muskil Bahut Hai Rishto Ki Zanjire Na Todna.

****************


रेत अब बूंद लगे और बूंद की प्यास लगे
हूं समंदर में मगर रेगिस्तां मुझे पास लगे

****************

मेरी रूह पे रह गया मोहब्बत का निशां यूं
फासला तुमसे हुआ तो तुम मुझे पास लगे

****************

देखते रह गए तेरी हसीन तस्वीर को हम
पल पल तेरा अक्स मुझे आंखों क पास लगे

****************

दर्द में पाया तुझे और मैं रो पड़ा अक्सर
मुझे हर दर्द अब तेरा ही अहसास लगे


****************


Best Rista Shayari 2018 Best Rista Shayari 2018 Reviewed by waoduniya on September 12, 2017 Rating: 5

No comments:

Thanks for visite me...

Powered by Blogger.