Desh-bhakti Shayari


बस ये बात हवाओं को बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाज़त की शहीदों ने,
उस तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना।

***************


बस ये बात हवाओं को बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाज़त की शहीदों ने,
उस तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना।

***************

मिटा दिया है वजूद उनका जो भी इनसे भिड़ा है,
देश की रक्षा का संकल्प लिए जो जवान सरहद पर खड़ा है।

***************

दिल हमारे एक हैं एक ही है हमारी जान,
हिंदुस्तान हमारा है हम हैं इसकी शान,
जान लुटा देंगे वतन पे हो जायेंगे कुर्बान,
इसलिए हम कहते हैं मेरा भारत महान।

***************

यहाँ आरती है अज़ान है, हिन्दू हैं मुसलमान हैं,
है गर्व मुझे इस देश पर क्यूंकि ये मेरा हिन्दुस्तान है।

***************

लिख रहा हूं मैं अजांम जिसका कल आगाज आयेगा,
मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा
मैं रहूँ या ना रहूँ पर ये वादा है तुमसे मेरा कि,
मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आयेगा

***************

मेरा "हिंदुस्तान" महान था,
महान है और महान रहेगा,
होगा हौसला बुलंद सब के ड़ों में बुलंद
तो एक दिन पाक भी जय हिन्द कहेगा.

***************

आजाद, भगत सिंह जैसे, इस देश में जन्में वीर यहाँ,
कुर्बानी की इनकी गाथाएं गाता है ये सारा जहाँ।

***************

De Salami Iss Tirange Ko,
Jis Se Teri Shaan Hai,
Sar Hamesha Uncha Rakhna Iska,
Jab Tak Tujh Mein Jaan Hai.

***************

Chodo Kal Ki Baatein,
Kal Ki Baat Puraani,
Naye Daur Mein Likhenge,
Mill Kar Nayi Kahaani,
Hum Hindustani

***************

भ्रष्टाचार, बेरोजगारी जैसे पापों का जब पतन होगा,
हो जाएगा खुशहाल ये जीवन खुशहाल ये मेरा वतन होगा।

***************

Naa Poochho Jamaney Ko,
Kya Hamari Kahani Hain,
Hamari Pehchaan To Sirf Ye Hai
Ki Hum Sirf Hindustani Hain…!!

***************

मैं भारतवर्ष का हरदम अमिट सम्मान करता हूँ
यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,
तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ।

***************

उत्तर में है खड़ा हिमालय, दक्षिण में सागर मचल रहा,
पूरब से सूरज निकला देखो, पश्चिम प्रगति में बदल रहा।

***************

Na Sar Jhuka Hai Kabhi,
Aur Na Jhukayenge Kabhi,
Jo Apne Dum Pe Jiye,
Sach Mein Zindgi Hai Wahi.

***************

Kaale Gore Ka Bhed Nahin
Har Dil Se Hamara Naata Hai,
Kuchh Aur Na Aata Ho Humko
Hamein Pyar Nibhana Aata Hai.

Happy Independence Day.

***************

न तीर से न तलवार से हम समझाएं पहले प्यार से हम,
जो टकराता है फिर भी हमसे, मिटा दें उसको पहले वार से हम।

***************

शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले,
वतन पे मर मिटने वालों का बाकी यही निशां होगा

***************

अनेकता में एकता ही इस देश की शान है,
इसीलिए मेरा भारत महान है

हमारी पहचान तो सिर्फ ये है कि हम भारतीय हैं.

***************

खुशनसीब हैं वो जो वतन पर मिट जाते हैं,
मरकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं,
करता हूँ उन्हें सलाम ए वतन पे मिटने वालों,
तुम्हारी हर साँस में तिरंगे का नसीब बसता है.

***************

सारा संसार ये जानता है हमारी जो भी पहचान है,
संस्कृत से संस्कृति हमारी हिंदी से हिन्दुस्तान है।

***************

गद्दार थे वो लोग जिन्होंने सरहद पर रेखा खींची है,
यूँ ही नहीं मिली आज़ादी हमको, इसे शहीदों ने खून से सींची है।

***************

जन्म लिया जिस देश में मैंने. ह्रदय से उसको नमन हो,
ख्वाहिश बस इतनी है मुझको, मरते वक़्त तिरंगा मेरा कफ़न हो।

***************

पूरा सम्मान वो पाएगा, मेहमान जो बन कर आएगा,
जो आँख उठी दुश्मन की तो, मिटटी में मिलाया जाएगा।

***************

मैं मुस्लिम हूँ, तू हिन्दू है, हैं दोनों इंसान,
ला मैं तेरी गीता पढ़ लूँ, तू पढ ले कुरान,
अपने तो दिल में है दोस्त, बस एक ही अरमान,
एक थाली में खाना खाये सारा हिन्दुस्तान।

***************

संस्कार और संस्कृति की शान मिले ऐसे,
हिन्दू मुस्लिम और हिंदुस्तान मिले ऐसे
हम मिलजुल के रहे ऐसे कि
मंदिर में अल्लाह और मस्जिद में राम बसे जैसे।

***************

Aaj Fir Mujhe Iss Baat Ka Gumaan Ho,
Masjid Me Bhajan Mandir Me Azaan Ho,
Khoon Ka Rang Phir Ek Jaisa Ho,
Tum Manaao Diwali Mere Ghar Ramzan Ho.

***************

Dostana Itna BarKarar Rako Ki,
Majhab Beech Mein Na Aaye Kabhi,
Tum Usey Mandir Tak Chhod Do,
Woh Tumhein Masjid Chhod Jaye Kabhi

***************

ऐसा देश नहीं है कोई जिसने यह रीत अपनाई है,
देश को कहते माता और लोगों को कहते भाई हैं।

***************

ऐसा सुकून कहीं नहीं मिलता चाहे घूमो सारा जहान,
दिल में एक नाम जो धड़के, वो है अपना हिन्दुस्तान।


***************

जो अब तक ना खौला, वो खून नहीं पानी है,
जो देश के काम ना आये, वो बेकार जवानी है

***************

ये पेड़ ये पत्ते ये शाखें भी परेशान हो जाएं !
अगर परिंदे भी हिन्दू और मुस्लमान हो जाएं
.
.
न मस्जिद को जानते हैं , न शिवालों को जानते हैं
जो भूखे पेट होते हैं, वो सिर्फ निवालों को जानते हैं.
मेरा यही अंदाज ज़माने को खलता है.
की मेरा चिराग हवा के खिलाफ क्यों जलता है.
में अमन पसंद हूँ, मेरे शहर में दंगा रहने दो,
लाल और हरे में मत बांटो, मेरी छत पर तिरंगा रहने दो

***************

जिंदगी जब तुझको समझा, मौत फिर क्या चीज है
ऐ वतन तू हीं बता, तुझसे बड़ी क्या चीज है

***************

बड़े अनमोल हे ये खून के रिश्ते
इनको तू बेकार न कर,
मेरा हिस्सा भी तू ले ले मेरे भाई
घर के आँगन में दीवार ना कर।

***************

ऐ मेरे वतन के लोगों तुम खूब लगा लो नारा
ये शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा
पर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गँवाए
कुछ याद उन्हें भी कर लो जो लौट के घर न आये….

***************

मुझे ना तन चाहिए, ना धन चाहिए
बस अमन से भरा यह वतन चाहिए
जब तक जिन्दा रहूं, इस मातृ-भूमि के लिए
और जब मरुँ तो तिरंगा कफ़न चाहिये

***************

Na Maro Sanam Bewafa Ke Leeye,
Do Gaz Jameen Nhi Milegi Dafan Hone K Liye,
Marna Hai Toh Maro Vatan Ke Liye,
Hasina Bhi Duppta Utar Degi Tere Kafan Ke Liye.

***************

कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है,
हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा,
नशा ये हिंदुस्तान की शान का है.

***************

एक सैनिक ने क्या खूब कहा है...
किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूँ,
मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूँ,
मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ,
मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हूँ।
जय हिन्द

***************

Kuchh Haath Se Mere Nikal Gaya,
Woh Palak Jhapak Ke Chhip Gaya,
Fir Laash Bichh Gayi Lakhon Ki,
Sab Palak Jhapak Ke Badal Gaya.

***************


Jab Rishte Raakh Mein Badal Gaye,
Insaniyat Ka Dil Dahal Gaya,
Main Poochh Poochh Ke Haar Gaya,
Kyon Mera Bhaarat Badal Gaya?

***************

चलो फिर से आज वो नजारा याद कर लें,
शहीदों के दिल में थी वो ज्वाला याद करले,
जिसमे बहकर आज़ादी पहुची थी किनारे पे,
देशभक्तों के खून की वो धरा याद कर लें

***************

इश्क तो करता है हर कोई,
महबूब पे मरता है तो हर कोई,
कभी वतन को महबूब बना कर देखो
तुझ पे मरेगा हर कोई ..........!!!

***************

खून से खेलेंगे होली,
अगर वतन मुश्किल में है,
सरफरोशी की तमन्ना,
अब हमारे दिल में है,
आओ मिलकर करे देश को सलाम,
बोलो मेरा भारत महान ......!!!

***************

वतन हमारा ऐसे न छोड़ पाए कोई,
रिश्ता हमारा ऐसे न तोड़ पाए कोई,
दिल हमारे एक है एक है हमारी जान,
हिंदुस्तान हमारा है, हम है इसकी शान.

***************

कुछ हाथ से मेरे निकल गया,
वो पलक झपक के छिप गया,
फिर लाश बिछ गयी लाखों की,
सब पलक झपक के बदल गया।

***************

जब रिश्ते राख में बदल गए,
इंसानियत का दिल दहल गया,
मैं पूछ पूछ के हार गया,
क्यूँ मेरा भारत बदल गया?


***************

देश को आजादी के नए अफसानों की जरूरत है
भगत-आजाद जैसे आजादी के दीवानों की जरूरत है,
भारत को फिर देशभक्त परवानों की जरूरत है.

***************

Ye Baat Hawao Ko Bataye Rakhna,
Roshni Hogi Chirago Ko Jalaye Rakhna,
Lahu Dekar Jiski Hifazat Humne Ki…
Aise TIRANGE Ko Sada Dil Me Basaye Rakhna.

***************

Hlki Si Dhup Brsat K Baad,
Thori Si Khushi Hr Baat K Baad,
Isi Tarh Mubark Ho Ap Ko,
Azadi 1 Din K Baad.


***************

जिन्हें है प्यार वतन से, वो देश के लिए अपना लहू बहाते हैं
माँ की चरणों में अपना शीश चढ़ाकर, देश की आजादी बचाते हैं
देश के लिए हँसते-हँसते अपनी जान लुटाते हैं.

***************

Naa Poochho Jamane Ko,
Kya Hamari Kahani Hain,
Hamari Pehchaan To Sirf Ye Hai
Ki Hum Sirf Hindustani Hain.

***************

Bhara Nahin Jo Bhavon Se,
Behti Jis Me Ras Dhar Nahi
Wo Hriday Nahin Hai Patthar Hai
Jis Mein Swadesh Ka Pyaar Nahin.

***************

Ishq Toh Karta Hai Har Koyi,
Mehboob Pe Marta Hai Har Koyi,
Kabhi Watan Ko Mehboob Bana Kar Dekho,
Fir Tujh Pe Marega Har Koyi.

***************

Khushnaseeb Hain Wo Jo
Watan Pe Mit Jaate Hai,
Mar Kar Bhi Wo Log
Amar Ho Jaate Hai,
Karta Hoon Tumhe Saalam
Ai Watan Pe Mitne Walo
Tumhari Har Saans Mein Basna
Tirange Ka Naseeb Hai.


I Love My India.
Jai Hind..

***************

मेरा यही अंदाज ज़माने को खलता है,
कि चिराग हवा के खिलाफ क्यों जलता है,
मैं अमन पसंद हूँ,
मेरे शहर में दंगा रहने दो,
लाल और हरे में मत बांटो,
मेरी छत पर तिरंगा रहने दो।

***************

ज़माने भर में मिलते हैं आशिक कई,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता,
नोटों में लिपट कर मरे हैं कई,
सोने में सिमटकर मरे हैं कई,
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता।

***************

Aye Mere Watan Ke Logo Tum Khoob Laga Lo Naara,
Yeh Shubh Din Hai Hum Sab Ka Lehra Lo Tiranga Pyara,
Par Mat Bhoolo Seema Par Veero Ne Pran Ganwaye,
Kuchh Yaad Unhen Bhi Kar Lo Jo Laut Ke Phir Na Aaye

***************

हम अपने खून से लिक्खें कहानी ऐ वतन मेरे,
करें कुर्बान हँस कर ये जवानी ऐ वतन मेरे।
दिली ख्वाहिश नहीं कोई मगर ये इल्तिजा बस है,
हमारे हौसले पा जायें मानी ऐ वतन मेरे।

***************

मुझे तन चाहिए, ना धन चाहिए,
बस अमन से भरा यह वतन चाहिए।
जब तक जिन्दा रहूं, इस मातृभूमि के लिए,
और जब मरू तो तिरंगा कफ़न चाहिये।

***************

Ye Nafrat Buri Hai Na Paalo Ise,
Dilo Me Khalish Hai Nikalo Ise,
Na Tera, Na Mera, Na Iska, Na Uska,
Yeh Sab Ka Watan Hai, Bacha Lo Ise.

***************

Na Maro Sanam Bewafa Ke Liye,
Do Gaz Jameen Nahi Milegi Dafan Ke Liye,
Marna Hai To Maro Apne Watan Ke Liye,
Hasina Bhi Duppta Utar Degi Kafan Ke Liye.

***************

Aajadi Ki Kabhi Shaam Nahi Hone Denge,
Sahidon Ki Kurbani Badnaam Nahi Hone Denge,
Bachi Ho Jo Ek Bund Bhi Garam Lahu Ki Tab Tak
Bharat Mata Ka Aanchal Nilaam Nahi Hane Denge

***************


Lehrayega Tiranga Ab Saare Asmaan Par,
Bharat Ka Naam Hoga Sab Ki Jubaan Par,
Le Lenge Uski Jaan Ya De Denge Apni Jaan,
Koyi Jo Uthayega Aankh Hamare Hindustan Par.

***************

Har Waqt Meri Aankho Me Dharti Ka Swpan Ho,
Jab Kabhi Maru To Tirnga Mera Kafan Ho,
Aur Koyi Khwahish Nahi Zindgi Me Ab,
Jab Kabhi Janmu To Bharat Mera Vatan Ho.

***************

Goonje Kahin Par Shankh, Kahin Pe Ajaan Hai,
Bible Hai, Granth Sahab Hai, Geeta Ka Gyan Hai,
Duniya Mein Kahin Aur Yeh Manzar Naseeb Nahi,
Dikhao Zamaane Ko Yeh Hindustan Hai.

***************



Desh-bhakti Shayari Desh-bhakti Shayari Reviewed by waoduniya on September 03, 2017 Rating: 5

No comments:

Thanks for visite me...

Powered by Blogger.